Bike News

अब बाइक्स में मिलेगी सेल्फ बैलेसिंग टेक्नोलॉजी, संतुलन बिगड़ने का नहीं होगा कोई डर

शेयर करे

नई दिल्ली :- वैसे तो छोटी दूरी के लिए किसी भी दोपहिया वाहन को अच्छा माना जाता है लेकिन उसे संभालना एक बड़ा काम है. आपको वाहन का Balance बनाना जरूर आना चाहिए. एक मोटरसाइकिल के लिए सिर्फ उसकी Speed ही मायने  लेकिन जैसे ही बाइक की स्पीड धीरे होती है बाइक का संतुलन खराब होने लगता है. चालक तो ठीक से बाइक चलाता है पर आगे पीछे की टक्कर की वजह से बाइक का संतुलन बिगड़ जाता है और उसके बाद आप Accident का शिकार हो जाते हैं.

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

इंडियन मार्केट में जल्द आने वाले हैं सेल्फ बैलेंस वाले स्कूटर

कई बार तो ऐसा होता है कि वाहन चालक अपनी Bike बिल्कुल सही चलाता है पर पीछे से टक्कर लगने के बाद बाइक का Balance बिगड़ जाता है और एक्सीडेंट हो जाता है. पर अब आपको चिंतित होने की कोई आवश्यकता नहीं है. समय के साथ-साथ चीजें बदल रही है. इसी के साथ आपको बता दें कि भारतीय बाजार में सेल्फ बैलेंस वाले स्कूटर भी Entry करने वाले हैं. देश की सबसे बड़ी Vehicle Producer कंपनी होंडा और यामाहा द्वारा इस पर काफी तेजी से काम किया जा रहा है वहीं जापान की टू व्हीलर वाहन निर्माता कंपनी होंडा ने अपनी बाइक्स के लिए सेल्स बैलेंसिंग Technology का Pentent कराया है.

See also  Hero Passion: सबका बैंड बजाने नए लुक और शानदार फीचर के साथ आने वाली है नई Hero Passion, इन बाइक वालो को होने लगी जलन

होंडा और यामाहा करेंगे सेल्फ बैलेंसिंग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल

कंपनी ने हाल ही के दिनों में तकनीक को दिखाने के लिए हैवी बाइक गोल्ड को चयनित किया था. आपको बता दे की ये कोई तकनीक नहीं है, इससे पहले भी सेल्फ बैलेंसिंग व्हीकल के Concept Mode लोगों के सामने आ चुके हैं लेकिन होंडा अभी तकनीक को Use करने जा रही है. भारतीय मार्केट में यामाहा भी इस तकनीक का उपयोग करेगी. India इस तकनीक में अभी अच्छी नहीं है, हाँ मगर पीछे भी नहीं है. ऑटो एक्सपो में मुंबई बेस्ड स्टार्टअप में दुनिया की पहली ऑटो बैलेंसिंग इलेक्ट्रिक स्कूटर को Launch किया था.

See also  अपनी इन खूबियों से Honda Activa ने आम जनता को बनाया दीवाना, जानते ही आप भी तुरंत खरीदेंगे स्कूटर

स्थिर होने पर भी सेंसर की मदद से खड़ी रहेगी बाइक

यह पूरी तरह से मेड इन इंडिया स्कूटर (Made In India) है ओर इसके लिए कंपनी पिछले 6 साल से कम कर रही है.उस निर्माता कंपनी ने इस स्कूटर में बैलेंसिंग तकनीक Use की है. जो कि मुख्यतः आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) बेस्ड तकनीक है. इस तकनीक के पीछे जायरोस्कोपिक प्रिंसिपल ऑफ फिजिक्स को उपयोग में लाया गया है जिससे यह स्कूटर Constant रहते हुए भी Censor की Help से अपनी जगह पर खड़ी रहती है.

शेयर करे

Deepika Bhardwaj

Hello my name is Deepika Bhardwaj. I am working as a content writer on Khabri Auto since 2022. I have done master degree in commerce. My aim is that every news should reach you as soon as possible. I always try to write the news in simple words so that the readers do not have any problem in understanding it and they get complete information.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button